India, Static GK

डॉ. भीमराव अम्बेडकर के द्वारा लिखी गई प्रसिद्ध पुस्तकों की सूची एवं अनमोल विचार

डॉ. भीमराव अम्बेडकर के द्वारा लिखी गई प्रसिद्ध पुस्तकों की सूची एवं अनमोल विचार

डॉ. भीमराव अम्बेडकर के द्वारा लिखी गई प्रसिद्ध पुस्तकों की सूची एवं अनमोल विचार

(List of famous books written by Dr. Bhimrao Ambedkar and precious Quotes)


डॉ  भीमराव अम्बेडकर का जन्म 14 अप्रैल 1891 में इंदौर के महू (म. प्र.) नामक स्थान में हुआ था इनका जन्म एक गरीब अस्पृश्य परिवार मे हुआ था। इनके पिता रामजी फौज में सूबेदार थे. इनकी माता का नाम भीमाबाई सकपाल था. 1907 में मैट्रिक और एल्फिन्स्टन कॉलेज से इन्होने इंटर परीक्षा पास की । कानून की उपाधि प्राप्त करने के साथ ही विधि, अर्थशास्त्र व राजनीति विज्ञान में अपने अध्ययन और अनुसंधान के कारण कोलंबिया विश्वविद्यालय और लंदन स्कूल ऑफ इकॉनॉमिक्स से कई डॉक्टरेट डिग्रियां भी अर्जित कीं।  सन 1936 में इन्होने ‘इंडिपेंडेंट लेबर पार्टी’ राजनैतिक दल का गठन किया. उन्होंने छुआछूत के विरुद्ध संघर्ष किया तथा दलितों और शोषितों को सामाजिक समानता का अधिकार दिलाने के लिए काफी संघर्ष किया। 6 दिसंबर 1956 को अंबेडकर जी की मृत्यु हो गई।
1990 में  मरणोपरांत डॉ. भीम राव अम्बेडकरको भारत रत्न से सम्मानित किया गया।

डॉ. भीमराव अम्बेडकर के द्वारा लिखी गई प्रसिद्ध पुस्तकों की सूची
(List of famous books written by Dr. Bhimrao Ambedkar )

क्रमांकपुस्तक का नामप्रकाशन का वर्ष
1भारत का राष्ट्रीय अंश1916
2भारत में जातियां और उनका मशीनीकरण1916
3भारत में लघु कृषि और उनके उपचार1917
4मूल नायक (साप्ताहिक)1920
5ब्रिटिश भारत में साम्राज्यवादी वित्त का विकेंद्रीकरण1921
6रुपये की समस्या: उद्भव और समाधान1923
7ब्रिटिश भारत में प्रांतीय वित्त का अभ्युदय1925
8बहिष्कृत भारत (साप्ताहिक)1927
9जनता (साप्ताहिक)1930
10जाति विच्छेद1937
11संघ बनाम स्वतंत्रता1939
12पाकिस्तान पर विचार1940
13श्री गाँधी एवं अछूतों की विमुक्ति1942
14रानाडे, गाँधी और जिन्ना1943
15कांग्रेस और गाँधी ने अछूतों के लिए क्या किया1945
16शूद्र कौन और कैसे1948
17महाराष्ट्र भाषाई प्रान्त1948
18भगवान बुद्ध और उनका धर्म1957

डॉ. भीमराव अम्बेडकर के अनमोल विचार (Dr. Bhimrao Ambedkar Quotes in Hindi)

Quote 1: सागर  में  मिलकर  अपनी  पहचान  खो  देने  वाली  पानी  की  एक  बूँद  के  विपरीत , इंसान  जिस  समाज  में  रहता  है  वहां  अपनी  पहचान  नहीं  खोता। इंसान  का  जीवन  स्वतंत्र  है। वो  सिर्फ  समाज  के  विकास  के  लिए  नहीं  पैदा  हुआ   है , बल्कि  स्वयं  के  विकास  के  लिए  भी पैदा  हुआ   है।
Quote 2: मनुष्य नश्वर है। उसी तरह विचार भी  नश्वर  हैं । एक विचार को प्रचार-प्रसार की जरूरत है जैसे एक पौधे में पानी की जरूरत की जरूरत होती है। अन्यथा दोनों मुरझा जायेंगे और मर जायेंगे।
Quote 3: हमें अपने पैरों पर खड़े होना है। अपने अधिकार के लिए लड़ना है तो अपनी ताकत और बल को पहचानो क्योंकि शक्ति और प्रतिष्ठा संघर्ष से ही मिलती है।
Quote 4: भाग्य में नहीं, अपनी शक्ति में विश्वास रखो।
Quote 5: बुद्धि का विकास ही मानव अस्तित्व का सबसे बड़ा लक्ष्य होना चाहिए।
Quote 6: इंसान सिर्फ समाज के विकास के लिए नहीं पैदा हुआ है, बल्कि स्वयं के विकास के लिए पैदा हुआ है।
Quote 7: जीवन लम्बा होने की बजाय महान होना चाहिये।
Quote 8: मैं उस धर्म को पसंद करता हूँ जो स्वतंत्रता, समानता और भाईचारे की भावना सिखाता है।
Quote 9: जो अपना इतिहास भूल जाते हैं वो कभी इतिहास नहीं बना सकते।
Quote 10: मैं किसी समाज की उन्नति को महिलाओं की उन्नति से मापता हूँ।
Quote 11: सबसे पहले और अंत तक हम एक भारतीय हैं।
Quote 12: कानून और व्यवस्था, राजनीति के शरीर की दवायें हैं और जब शरीर बीमार हो जाये तो तो दवाइयों को अपना काम करना चाहिए।
Quote 13: पति-पत्नी के बीच का संबंध घनिष्ठ मित्रों के संबंध के समान होना चाहिए।
Quote 14: हिंदू धर्म में, विवेक, कारण और स्वतंत्र सोच के विकास के लिए कोई गुंजाइश नहीं है।
Quote 15: जब तक आप सामाजिक स्वतंत्रता नहीं हासिल कर लेते, कानून आपको जो भी स्वतंत्रता देता  है, वो आपके किसी काम की नहीं।

Related Posts

You Might Also Like